बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं

बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं

आज हम बताएंगे बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं. आज के समय मे कंप्यूटर, मोबाइल फोन और इंटरनेट का महत्व बहुत अधिक बढ़ गया है. दुनिया निरतंर प्रगति की और अग्रसर है. हमारा पूरा जीवन टेक्नोलॉजी पर निर्भर हो चुका है सुबह उठने से लेकर रात में सोने तक हम मोबाइल फोन टेक्नोलॉजी का यूज़ करते हैं जिसने हमारे कई कामों को आसान बना दिया है बैंक खाते में पैसा भेजना हो या ऑनलाइन शॉपिंग करना हो,मोबाइल रिचार्ज करना हो या बिजली-पानी का बिल जमा करना हो अब मोबाइल और टेक्नोलॉजी की वजह से घर बैठे सम्भव है.अगर आपको लगता है कि आपके बच्चे सारा दिन घर बैठे मोबाइल फोन पर गेम्स खेलते हैं तो यही टेक्नोलॉजी उनके लिए अभिशाप भी बन सकती हैं. ऐसे में आप उन्हें प्रेरणा दे कि यदि उनकी रूचि टेक्नोलॉजी में है तो मोबाइल पर गेम्स खेलने की जगह Coding सीखें.

Coding सीखकर छोटे छोटे एप्लीकेशन वह खुद बना सकते हैं. मोबाइल फोन में होने वाले सभी काम मोबाइल एप्लीकेशन से ही सम्भव है. अगर आप अभी बच्चों को Coding सिखाते हैं तो आने वाले समय में आपके बच्चे मोबाइल एप्स बना सकते हैं. मोबाइल एप्लीकेशन बनाने के लिए Coding सीखना बहुत ही जरूरी हैं.
कई विकसित देशों में बच्चों को कम उम्र में ही Coding सिखाई जाती हैं जिसकी वजह से वह खुद मोबाइल गेम्स और एप्लीकेशन बना सकते हैं तो बिना किसी देरी के Coding के बारे में विस्तार से जानते हैं.

बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं
बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं


Coding क्या है?

Coding एक तरह की भाषा होती हैं जिसकी मदद से हम कंप्यूटर से बातचीत कर सकते हैं कंप्यूटर को इंट्रक्शन दे सकते हैं. Coding की भाषा कंप्यूटर समझता है. Coding की मदद से ही सभी कंप्यूटर और मोबाइल गेम्स,एप्स, सॉफ्टवेयर,वेबसाइटें आदि बन पाना सम्भव है.

बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं

Coding सीखने से बच्चों में कॉम्युनिकेशन स्किल डेवलोपमेन्ट होता है. Coding सीखने से बच्चों को बहुत सारे फायदे हैं जिनके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है.

कंप्यूटर,सॉफ्टवेयर और मोबाइल ऐप्स में बेहतर भविष्य

दुनिया में जिस तरह से कंप्यूटर, सॉफ्टवेयर और मोबाइल ऐप्स का उपयोग बढ़ रहा है उससे यह अनुमान लगाया जा सकता है कि आने वाले समय मे Coding का कितना महत्व होने वाला है.आने वाले समय मे सभी व्यवसाय और बिज़नेस ऑनलाइन प्लेटफार्म को अपनाने वाले हैं ऐसे में अगर बच्चें अभी से Coding सीखते हैं तो वे कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और मोबाइल ऐप्स बनाकर उज्ज्वल भविष्य बना सकते हैं.



Coding सीखने से बच्चों का मैथ्स में इंट्रस्ट बढ़ता है

मैथ्स जैसे गम्भीर विषय में जो स्किल बच्चों के लिए जरूरी होती हैं वो ही स्किल Coding सीखने में काम आती हैं इस तरह से बच्चों को मैथ्स विषय में भी रुचि बढ़ने लगती हैं.


Coding एक नई शिक्षा है

आज के समय में दुनिया पूरी तरह से बदल रही हैं नई शिक्षा नीति बच्चों को एक नई दिशा दिखा रही हैं. ऐसे में Coding भी एक नई शिक्षा का रूप ले रही हैं अगर अभी से बच्चें Coding सीखते हैं तो आने वाले समय मे वे स्वयं अन्य लोगों को Coding सीखा सकते हैं


Coding बच्चों की कम्युनिकेशन स्किल बढ़ाती हैं

Coding बच्चों की कम्युनिकेशन स्किल बढ़ाती हैं क्योंकि जब Coding सीखते हैं तो एक कंप्यूटर के समान समस्या-समाधान प्रक्रिया भी सीखने को मिलती हैं. कॉम्युनिकेशन स्किल का उपयोग बच्चें अन्य व्यवहारिक समस्याओं को हल करने में भी कर सकते हैं.

Coding से बच्चों में क्रिएटिव माइंड डेवेलोप होता है

Coding बच्चों को कुछ नया सीखने का अवसर प्रदान करती हैं. कम उम्र में ही बच्चें Coding सीखकर मोबाइल गेम्स, सॉफ्टवेयर,वेबसाइटें आदि बना सकते हैं. जिससे कि उनमें एक क्रिएटिव माइंड डेवेलोप होता है.


Coding सीखने से टेक्नोलॉजी पर व्यक्तिगत नियंत्रण स्थापित किया जा सकता है

Coding सीखने से टेक्नोलॉजी को बेहतर तरीके से समझा जा सकता है टेक पर व्यक्तिगत जीत हासिल की जा सकती हैं Coding ही एक मात्र ऐसा माध्यम है जिसकी मदद से टेक जैसे विषय के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

Coding में है बेहतर कैरियर

आने वाले समय मे किसी भी नोकरी के लिए आवश्यक होगा कि आपके पास बुनियादी कंप्यूटर कौशल हो. अगर बच्चों को अभी से ही कंप्यूटर Coding के बारे में सिखाया जाता है तो ऐसे में उनकी रूचि कंप्यूटर शिक्षा में होगी और वे Coding में ही अपना बेहतर कैरियर बना पाएंगे. 

अभी आपने यह जाना कि बच्चों को Coding सीखना क्यों जरूरी हैं अगर अब भी इस विषय में आप कोई अन्य जानकारी चाहते हैं तो नीचे कमेंट कर सकते हैं.

2 Comments

Please do not enter in the spam comment box

  1. बहुत ही अच्छी जानकारी दी गई हैं

    ReplyDelete
Previous Post Next Post